जिन्दगी में  कार लेना हमारा सपना होता है| अपने परिवार को कार में बिठा कर कही दूर घुमाने ले जानेकी हमारी इच्छा होती है| हम कार भी ले लेते है और परिवार को दूर घुमाने भी लेकर जाते है| सोचिए अगर परिवार के साथ आप कही घूमने जा रहे है और बीच रास्ते में अचानक आपकी गाडी बंद हो जाये| जब हम कार लेते हैं तो हमें कार के रखरखाव और उसके Maintenance की कुछ बातो की जानकारी जरूर होनी चाहिए अगर नही है तो मालूम कर लेनी चाहिए| इस लेख में कार के बारे में ऐसे ही कुछ बाते बताई गयी है जिन्हें कार Owners (मालिक) को मालूम होना बहुत जरूरी है| How to take Care of Car?

              गाडी के साथ  हररोज यह कीजिये :

  •            ♦ अगर आप हररोज गाडी चलाते (Drive) है तो रोज गाडी के टायर की हवा और टायर की स्थिती को चेक करना जरूरी है|
  •             ♦ गाडी के ऑइल लीक(Oil Leak) और कूलैंट लीक (Coolant Leak) पे हमेशा ध्यान रखिए|
  •             ♦ वाइपर ब्लेड (wiper blade) और रियर मिरर(Rear Mirror) के condition(स्थिती) पर ध्यान देना जरूरी होता है|
  •             ♦ गाडी के top को हमेशा साफ़ रखिये| गाडी पर अगर deep scratches हो तो गाडी के पत्रे को जंग(rust) लग सकता हैं|

              गाडी के साथ यह कभी भी मत कीजिये:

  •               गाडी का इंजन जब गरम हो तो भूल कर भी कभी रेडियेटर (Radiator) के ढक्कन को हाथ न लगाये या इसे खोलने की चेष्टा करे| क्यों की रेडियेटर के अन्दर का liquid  भाप (steam) बनकर बाहर आएगा और आप उससे झुलस(burn) सकते हैं|
  •              ♦ धुप में गाडी को ज्यादा देर तक पार्क नही करे हमेशा किसी शेड में ही पार्क करे|
  •              ♦ दुसरे गाडी के कंपनी के स्पेयर पार्ट्स अपनी गाडी में न लगाये|
  •              ♦ बहुत दिनोसे अगर गाडी को चलाया नहीं गया है तो बीच बीच में उसे चलाना चाहिए| गाडी के इंजन को लम्बे समयतक idel नहीं रखना चाहिए|

                गाडी का इंधन (Petrol, Diesel) बचाने के तरीके(Tips):

  •               गाडी की रफ़्तार (speed) हमेशा 40 से 45 km. ही रखे| इससे 30 से 40 प्रतिशत इंधन की बचत हो सकती है|
  •              ♦ गियर को कभी भी incorrect शिफ्ट मत कीजिये| बिना वजह गाडी को Accelerate या Deaccelerate मत कीजिये|
  •              ♦ जब भी रास्ता क्लियर हो गाडी को हमेशा top गियर में ही चलाये|
  •              ♦ टायर में योग्य मात्र में हवा होनी जरूरी है|
  •              ♦ गाडी में जरूरी सामान ही रखा कीजिये अनावश्यक (unnecessary) सामान रखकर गाडी में वजन न बढ़ाये|
  •              ♦ इंधन टंकी के cap को हमेशा अच्छी तरहसे बंद करके रखिये|
  •              ♦ पेट्रोल कार के एयर फील्टर (Air filter) को हर 5000 km के बाद साफ़ करना पड़ता है और 40000 km के बाद बदलना पड़ता है|
  •              ♦ डीजेल कार के एयर फील्टर (Air filter) को हर 20000 km के बाद साफ़ करना पड़ता है इसे बदलने की जरूरत नही होती है|
  •              गियर बदलते वक्त ही क्लच का इस्तेमाल कीजिये अन्यथा इसे दबाकर मत रखिये|

AC के गैस(Gas) level का कैसे पता करे?

                 AC जब कार में ठंडी हवा कम देने लगे तो समज लेना चाहिए की गैस का level AC में कम हो गया है| Gas Level कम होने का कारण लीकेज होता है| इस लीकेज का पता आपको Service Centre में जाके ही करना होगा क्यों की उनके पास इस लीकेज को ढूढने के लिए स्पेशल इंस्ट्रूमेंट (Instrument) में होते है| कार के AC की सर्विस Feb-March महीने में कीजिये क्योंकी इससे आप April-May की गर्मी में आप ठंडी हवा का मजा ले सकेंगे|  

कार के इंजन(engine) की सर्विसिंग कब करनी चाहिए?

                    गाडी में जब जरूरत से ज्यादा इंधन(Petrol,Diesel) लगने लगे या इंजन बेअरिंग(Engine Bearing) और पिस्टन स्लैप (Piston Slap) की आवाज आने लगे तो इसका मतलब होता है कार के इंजन में खराबी आ गयी है| कार को तुरंत authorised service सेन्टर में भेजकर इंजन की सर्विसिंग करवा लेनी चाहिए| आमतौर पर जब गाडी में जरूरत से ज्यादा इंधन लगने लगे तब ही समझ लेना चाहिए कार के इंजन को सर्विसिंग की जरूरत है|

कार जरूरत से ज्यादा गरम होने पर क्या करना चाहिए?

                    जब कार जरूरत से ज्यादा गरम हो जाये तो पहले कार का AC बंद कर दीजिये| कार को सुरक्षित जगह पार्क कीजिये| अगर बोनट (Bonnet) के निचेसे भाप(Steam) आ रही है तो उसे खोलने की जल्दबाजी मत कीजिये| तुरंत Service Centre के मैकेनिक को बुला लीजिये| इंजन जब गरम हो तब रेडियेटर के cap को मत खोलिए इससे गरम भाप बाहर आके जलने का खतरा होता है| अगर गाडी में लीकेज है तो उसे दुरुस्त किये बिना इंजन मत चालू कीजिये| Coolant level को चेक कीजिये अगर यह कम है तो पर्याप्त मात्र में Coolant को टाकी में भरिये|

                    यह कुछ बाते हैं अगर हम इन्हें ध्यान में रखेंगे तो हमारे कार की सेहत हमेशा अच्छी रहेगी और दूर तक का सफ़र भी इसमें हम असनिसे कर पाएंगे|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *